Friday, 19 January 2018, 4:36 PM

धर्म कर्म

इस देश के राष्ट्रीय ध्वज पर है विष्णु मंदिर की तस्वीर

Updated on 18 January, 2018, 7:00
हिंदू धर्म के आधार भूत ग्रंथों में बहुमान्य पुराणानुसार विष्णु परमेश्वर के तीन मुख्य रूपों में से एक रूप हैं। पुराणों में त्रिमूर्ति विष्णु को विश्व का पालनहार कहा गया है। कहते हैं पाप का नाश करने के लिए समय-समय पर भगवान विष्णु इस धरती पर प्रकट हुए। कभी मर्यादा... आगे पढ़े

गुप्त नवरात्र में करें ये काम, दस महाविद्या रूपी शक्तियां होंगी मेहरबान

Updated on 18 January, 2018, 6:45
गुप्त नवरात्रों में 10 महाविद्याओं की साधना, तांत्रिक क्रियाओं के लिए की जाती हैं, शक्ति साधना और महाकाल से जुड़े लोग ही इन दिनों में अधिक पूजन आदि करते हैं क्योंकि गुप्त नवरात्रों में कड़े नियमों का पालन करते हुए ही साधक साधना करते हैं तथा दुर्लभ शक्तियों की प्राप्ति... आगे पढ़े

इन बातों का रखें ध्यान, कभी नहीं होगी पैसों की तंगी

Updated on 15 January, 2018, 21:00
वैभवशाली जीवन जीने के लिए हर व्यक्ति को पैसों की जरूरत होती है। धन की देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करना बहुत आसान है। इसके लिए आपको अपनी जिंदगी जीने के कुछ तरीकों में मामूल बदलाव करने हैं और आप देखेंगे कि आपके घर में पैसों की बरक्कत होने लगेगी। वैसे इन... आगे पढ़े

नारद पुराण- व्यक्ति भूलकर भी न करे ये 4 महापाप, होगी नर्क का प्राप्ति

Updated on 14 January, 2018, 7:40
हिंदू धर्म में कई एेसे पुराण हैं जो मनुष्य को आगे बढ़ने में सहायता करते हैं। उनमें से नारद पुराण धर्म ग्रंथों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसमें भगवान की कई लीलाओं और ज्ञान का वर्णन मिलता है। नारद पुराण में मनुष्य जीवन से जुड़ी अनेकों बातों के बारे में... आगे पढ़े

माघ मेले में इस बार दो दिन मकर स्नान

Updated on 14 January, 2018, 6:30
 इलाहाबाद : सिर पर गठरी, हाथ में झोला और मन में श्रद्धा का भाव लिए नर, नारी व बच्चों का रेला। चहुंओर हर-हर गंगे का उद्घोष। शनिवार की दोपहर बाद माघ मेला क्षेत्र में दृश्य कुछ ऐसा ही था। स्नान पर्व मकर संक्रांति पर गंगा-यमुना व अदृश्य सरस्वती की पावन... आगे पढ़े

कैसे होती है शिव और सती से जुड़ी लोहड़ी की पूजा और कौन से गीत गाते हैं लोग

Updated on 13 January, 2018, 10:33
मकर संक्रान्ति की पूर्वसंध्या पर लोहड़ी का पर्व मनाया जाता है। इस अवसर पर रात में खुले स्थान में परिवार और आस पड़ोस के लोगों के साथ मिलकर आग के किनारे घेरा बना कर पूजा की जाती है। लोहड़ी पौष के अंतिम दिन, सूर्यास्त के बाद माघ संक्रांति से पहली... आगे पढ़े

मकर संक्रांति पर ही क्यों खाई जाती हैं ये चीजें

Updated on 13 January, 2018, 8:00
लोहड़ी के अगले दिन 'मकर संक्रान्ति' का त्योहार मनाया जाता हैं जिसे माघी भी कहते हैं। यह त्योहार सिर्फ उत्तर भारत ही नहीं बल्कि पूरे भारत में खास महत्व रखता हैं। इस दिन से सूर्य दक्षिण के बजाय उत्तर दिशा की तरफ गमन करने लगता है जिसे सेहत व शांति... आगे पढ़े

लोहड़ी: बेटियों को क्यों दिए जाते हैं उपहार, पढ़ें रोचक बातें

Updated on 13 January, 2018, 7:20
पौष महीने के अंतिम दिन सूर्यास्त के बाद माघ महीने की पहली रात को मनाया जाने वाला त्यौहार अपने साथ ढेर सारी रौनक व खुशियां लेकर आता है। लोहड़ी से अभिप्राय  है-पौष, माघ की कड़कड़ाती ठंड से बचने के लिए आग जला कर तापना व गर्मी देने वाले खाद्यों का... आगे पढ़े

जंगमवाड़ी मठ: यहां पूर्वजों की मुक्ति के लिए होते है शिवलिंग दान

Updated on 10 January, 2018, 7:10
जैसे कि हम सब जानते है कि भारत के एेसे कई मंदिर है जो अपनी विभिन्न प्रथाओं और रिवाजों को लेकर काफी प्रसिद्ध है। उन्हीं मंदिरों में से एक मंदिर  उत्तर प्रदेश के वाराणासी का जंगमवाड़ी मठ है। जो कि वाराणासी के सारे मठो में सबसे पुराना है। इसे जनाना... आगे पढ़े

श्री रामचरितमानस: इन 5 आदतों को त्यागना ही मनुष्य जीवन के लिए बेहतर

Updated on 9 January, 2018, 7:20
जीवन को सुखमयी और सफल बनाने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत आ्वश्य होता है। यदि मनुष्य अनजाने में ही कोई ऐसा काम कर जाए, जो उसे नहीं करना चाहिए तो उसे उसका फल उसे भोगना ही पड़ता है। कौन सी आदतें अच्छी हैं और कौन से काम... आगे पढ़े

कई सालों से मंदिर की रक्षा कर रहा मगरमच्छ, सिर्फ प्रसाद का करता है सेवन

Updated on 7 January, 2018, 8:40
भारत में ऐसे कई मंदिर तीर्थ स्थल आदि हैं जो अपनी-अपनी मान्यताओं को लेकर विश्वभर में प्रसिद्धी के मुख्य केंद्र बने हुए हैं। लेकिन इनमें से कुछ स्थान एेसे है जिनकी मान्यता के बारे में स्थानीय लोगों के अलावा और कोई नहीं जानता। इन मान्यताओं के पीछे बहुत सारे दावे... आगे पढ़े

बेटों की दीर्घ आयु के लिए मन्दिरों के शहर जम्मू में मनाया जा रहा है पुग्गे का व्रत

Updated on 6 January, 2018, 7:15
जम्मू:  मन्दिरों के शहर जम्मू में आज संकट चतुर्थी अथवा गणेश चतुर्थी का व्रत मनाया जा रहा है। जम्मू में इस व्रत को पुग्गे के व्रत के नाम से जाना जाता है। डुग्गर संस्कृति में यह व्रत बच्चों की दीर्घ आयु के लिए किया जाता है। डुग्गर प्रदेश में सुबह... आगे पढ़े

यहां स्नान कर भगवान परशुराम ने पाई थी मातृहत्या के पाप से मुक्ति!

Updated on 5 January, 2018, 7:30
परशुराम त्रेता युग के एक मुनि थे। उन्हें भगवान विष्णु का छठा अवतार कहा जाता है। पौरोणिक वृत्तान्तों के अनुसार उनका जन्म भृगुश्रेष्ठ महर्षि जमदग्नि द्वारा संपन्न पुत्रेष्टि यज्ञ से प्रसन्न देवराज इंद्र के वरदान स्वरूप पत्नी रेणुका के गर्भ से वैशाख शुक्ल तृतीया को हुआ था। भगवान पशुराम श्री... आगे पढ़े

मार्कण्डेय ऋषि को कैसे भोलेनाथ से मिला अमरत्व का वरदान

Updated on 5 January, 2018, 7:00
हम में से बहुत लोगों को मार्कण्डेय ऋषि सुना होगा। हिंदू धर्म के पुराणों में मार्कण्डेय ऋषि का पुराण सबसे उत्तम और प्राचनीतम माना जाता है। इस पुराण में ऋग्वेद की भांति अग्नि, इंद्र, सूर्य आदि देवताओं पर विवेचन है और गृहस्थाश्रम, दिनचर्या, नित्यकर्म आदि की भी चर्चा है। भगवती... आगे पढ़े

भारत का एेसा मंदिर, जहां भगवान शिव मेंढक की पीठ पर हैं विराजित

Updated on 4 January, 2018, 8:30
भारत में अलग-अलग धर्मों के लोग रहते हैं, जिसके कारण पूरे देश में अनेंकों मंदिर आदि स्थित है। लोगों की अपने-अपने धर्म के भगवान के साथ असीम आस्थाएं जुड़ी हुई हैं। लेकिन बहुत कम लोगों को पता होगा कि भारत में सिर्फ भगवान ही नहीं बल्कि बहुत से जानवरों की... आगे पढ़े

ओहदेदार होकर भी विनम्रता रखना व्यक्ति को समाज में बनाता है श्रद्धेय

Updated on 4 January, 2018, 7:15
बाजीराव पेशवा मराठा सेना के प्रधान सेनापति थे। एक बार वे किसी युद्ध में विजयी होकर सेना सहित राजधानी लौट रहे थे। मार्ग में उन्होंने मालवा में पड़ाव डाला। भूख-प्यास से सभी बेहाल थे, किंतु खाने के लिए अब उनके पास पर्याप्त सामग्री नहीं थी। यह देखकर बाजीराव ने अपने... आगे पढ़े

मां सिमसा देती हैं सन्तानहीन को सन्तान प्राप्ति का आशीष

Updated on 3 January, 2018, 7:15
हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के लड-भड़ोल तहसील के सिमस नामक खूबसूरत स्थान पर स्थित माता सिमसा मंदिर दूर दूर तक प्रसिद्ध है। भारत-वर्ष में अनेकों मंदिर हैं और उनकी स्थापना की अपनी-अपनी गाथा है। देवी सिमसा की स्थापना के पीछे ऐसी ही लोक मान्यता और विश्वास है जो इस... आगे पढ़े

श्रीकृष्ण के परम भक्त थे वेदांत स्वामी श्री प्रभुपाद

Updated on 1 January, 2018, 7:30
कृष्ण कृपामूर्त श्रीमद् ए.सी. भक्ति वेदांत स्वामी प्रभुपाद का जन्म 1896 ई. में कोलकाता में हुआ था। उनके पिता गौर मोहन डे कपड़े के व्यापारी थे और उनकी माता का नाम रजनी था। उनका घर उत्तरी कोलकाता में 151, हैरिसन रोड पर था। गौर मोडन डे ने अपने बेटे अभय... आगे पढ़े

कुंडली में चंद्र ग्रह अशुभ होने पर व्यक्ति का हो जाता है कुछ एेसा हाल

Updated on 31 December, 2017, 7:15
संसार में पाए जाने वाले समस्त प्राण, पेड़-पौधे, नदी, पर्वत, मृदा आदि ग्रहों के अधीन होते हैं। कर्मों के अनुसार अच्छा-बुरा जैसा भी फल मिलता है, उसके लिए भी ग्रह उत्तरदायी होते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, गुर, शुक्र, शनि, राहु और केतु नवग्रह कहलाते हैं।... आगे पढ़े

2018 में शनि की चाल और नजर किस राशि के लिए रहेगी शुभ

Updated on 30 December, 2017, 7:20
सभी लोग शनि को शत्रु मानते हैं, शनि एकमात्र ऐसा ग्रह है जो व्यक्ति को उसके पूर्व तथा प्रस्तुत जन्मों का फल देता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ये तीसरी दृष्टि रखते हैं जो संबंधों को खराब कर देती है। दसवीं दृष्टि से कर्मक्षेत्र और पिता के स्वास्थ्य पर बहुत बुरा... आगे पढ़े

विष्‍णु के नरसिंह अवतार को समर्पित है गोवा का श्री लक्ष्‍मी नरसिंह मंदिर

Updated on 28 December, 2017, 18:30
 भगवान विष्‍णु के चौथे अवतार का मंदिर श्री लक्ष्मी नरसिंह मंदिर, उत्तरी गोवा के पोंडा ताल्‍लुके में वेलिंग गांव में बना है। मरडोल से करीब 3 किमी की दूरी पर स्थित यह मंदिर देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु के चतुर्थ अवतार, ‘श्री नरसिंह’ को समर्पित है। भगवान ने इस अवतार में... आगे पढ़े

3 महीने तक करें ये प्रयोग, खुशियों के साथ होगी धन वर्षा

Updated on 27 December, 2017, 7:20
पृथ्वीलोक की समस्त धन संपदा के एकमात्र स्वामी कुबेर हैं। जो भगवान शिव के भी परमप्रिय सेवक हैं। इनकी कृपा से किसी को भी धन प्राप्ति के योग बन जाते हैं। धन के अधिपति होने के कारण इन्हें मंत्र साधना द्वारा प्रसन्न करके आप भी अपार धन सम्पदा के मालिक... आगे पढ़े

नव वर्ष पर माता वैष्णो देवी जानें वाले श्रद्धालुओं के लिए अहम खबर

Updated on 26 December, 2017, 6:45
जालंधरः नव वर्ष पर यदि आप भी माता वैष्णो देवी जाना चाहते हैं तो आपके लिए यह खबर खास है। जालंधर सिटी और कैंट से गुजरने वाली जम्मू की लगभग सभी ट्रेनों में 30 से 100 तक वेटिंग चल रही है। इनमें अधिकतर नए साल पर कटड़ा स्थित माता वैष्णो... आगे पढ़े

25 दिसंबर को क्यों मनाते हैं क्रिसमस, जबकि अक्टूबर में जन्मे थे ईसा मसीह

Updated on 25 December, 2017, 11:00
25 दिसंबर को ईसाई समुदाय के लोग यीशू मसीह के जन्मदिवस के रूप में मनाते हैं। मान्यताओं के अनुसार कहा जाता है कि इस दिन ईसा मसीह का का जन्म नहीं हुआ था। कहा जाता है कि उनका जन्म अक्टूबर में हुआ था, लेकिन फिर भी ईसा मसीह का जन्मदिन... आगे पढ़े

भगवान को ये लोग हैं सबसे प्यारे, जानें क्या आप हैं उन में शामिल

Updated on 24 December, 2017, 7:40
एक राजा बहुत बड़ा प्रजापालक था, हमेशा प्रजा के हित में प्रयत्नशील रहता था। वह इतना कर्मठ था कि अपना सुख, ऐशो-आराम सब छोड़कर सारा समय जन-कल्याण में लगा देता था। यहां तक कि जो मोक्ष का साधन है अर्थात भगवद्-भजन, उसके लिए भी वह समय नहीं निकाल पाता था।... आगे पढ़े

जब श्रीजगन्नाथ भक्त के साथ चलने को तैयार हो गए, जानें सत्य कथा

Updated on 23 December, 2017, 6:45
एक बार श्रीचैतन्य महाप्रभु जी के निर्देश से श्रीजगदीश पण्डित प्रभु, नीलाचल गये थे। श्रीधाम पुरी में श्रीजगन्नाथ जी के दर्शन कर आप प्रेम में आप्लावित हो गए तथा वहां से लौटते समय आप श्रीजगन्नाथ जी के विरह में व्याकुल हो गए। नन्दनन्दन श्रीकृष्ण, श्री चैतन्य महाप्रभु और श्री जगन्नाथ... आगे पढ़े

क्रिसमस ट्री के बारे में कुछ तथ्य, जिन्हें शायद आपने पहले नहीं सुना हो

Updated on 21 December, 2017, 11:30
हर साल 25 दिसंबर को दुनियाभर में क्रिसमस का पर्व मनाया जाता है। बाकी चीजों जैसे केक और गिफ्ट के अलावा एक और चीज का इस त्योहार में विशेष महत्व होता है, जो है क्रिसमस ट्री। यह एक सदाबहार पेड़ है, जिसकी पत्तियां न तो किसी मौसम में झड़ती हैं... आगे पढ़े

श्री केदारेश्वर ज्योतिर्लिंग यात्रा पर जा रहे हैं, अवश्य करें इनके दर्शन

Updated on 20 December, 2017, 7:20
शिवपुराण में श्री केदारेश्वर ज्योतिर्लिंग के आविर्भाव की कथा निम्नानुसार वर्णित है: भगवान विष्णु के नर-नारायण नाम के दो अवतार हुए। दोनों नर और नारायण हिमालय के बदरी वन क्षेत्र में तपस्या करते थे। इस पूरे क्षेत्र में अति प्राचीन काल में बेर (बदरी) वृक्षों का घना वन था, इन्हीं... आगे पढ़े

इस कारण नारी के लिए नारियल को फोड़ना माना जाता है अशुभ

Updated on 18 December, 2017, 7:20
नारियल को श्रीफल के नाम से भी जाना जाता है। ऐसी मान्यता है की जब भगवान विष्णु ने पृथ्वी पर अवतार लिया तो वे अपने साथ तीन चीजें- लक्ष्मी, नारियल का वृक्ष तथा कामधेनु लाएं थे। इसलिए नारियल के वृक्ष को श्रीफल भी कहा जाता है। श्री का अर्थ है... आगे पढ़े

धर्म की शिक्षा के चाहवान पाएं परम संतुष्टि

Updated on 17 December, 2017, 7:00
चीन में एक महान दार्शनिक संत हुए-ताओ बू चिन। परम विद्वान और नितांत सादा जीवन व्यतीत करने वाले ताओ बू चिन धर्म की सही शिक्षा देने के लिए विख्यात थे। लाखों की तादाद में लोग उनके पास आते और परम संतुष्टि का भाव लेकर वापस जाते। प्रत्येक व्यक्ति को उसकी... आगे पढ़े