मई दिवस पर मध्यप्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ ने सौंपा ज्ञापन
शहडोल। 1 मई मजदूर दिवस पर मध्य प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ की संभागीय व जिला इकाई ने पत्रकारों की समस्याओं को लेकर राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन संभागायुक्त एवं कलेक्टर शहडोल को सौंपा है। ज्ञापन में पत्रकार भवन भोपाल की लीज डीड बहाल करने, पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने, पत्रकार आवास खाली करवाने बार-बार नोटिस न दिए जाने, त्रिपक्षीय वार्ता कमेटी का गठन करने, श्रम विभाग के सहयोग से कमेटियां बनाने, संभाग व जिला स्तर पर प्रकोष्ठ बनाने बेगारी प्रथा पर रोक लगाने, डेस्क पर कार्यरत श्रमजीवी पत्रकारों को अधिमान्यता दिए जाने, श्रद्धा निधि का लाभ दिए जाने, बिना समिति की अनुशंसा पर अधिमान्यता कार्ड न बनाए जाने, श्रमजीवी पत्रकार कल्याण आयोग का गठन करने, तहसील स्तर पर सूचना सहायक नियुक्त करने, तहसील स्तर पर अधिमान्यता जिला जनसंपर्क अधिकारी की ही अनुशंसा पर दिए जाने, राज्य के अधिमान्य पत्रकारों को अन्य प्रांत के अधिमान्य पत्रकारों की तरह सुविधा उपलब्ध कराए जाने, राज्य सरकार के विश्राम भवनों पर रुकने की सुविधा प्रदान करने, टोल नाकों पर मध्य प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के कार्य को मान्यता दिए जाने, आवास समितियां बनाए जाने तथा पत्रकार भवन के लिए जमीन दिए जाने, श्रमजीवी पत्रकारों के संगठनों से संख्या के आधार पर समितियों सदस्यों को लिए जाने, समाचार पत्रों तथा पत्रकारों को जीएसटी से मुक्त रखने, लघु एवं मध्यम समाचार पत्रों की विज्ञापन नीति पर सहानुभूति पूर्वक विचार करने तथा कथित पत्रकार संगठनों द्वारा अधिमान्य शब्द का दुरुपयोग रोकने जैसे बिंदुओं को शामिल किया गया है। ज्ञापन सौंपते समय मध्य प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ के मुख्य कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष मो. अली, प्रदेश उपाध्यक्ष दिनेश अग्रवाल, शहडोल संभाग के कार्यकारी अध्यक्ष राजेंद्र मिश्रा, संभागीय उपाध्यक्ष पुष्पेंद्र रजाक, महासचिव संजीव निगम, शहडोल जिला इकाई अध्यक्ष राहुल सिंह राणा, महासचिव अनिल द्विवेदी सहित सोनू खान, राहुल मिश्रा, अजय पाल, अखिलेश मिश्रा, जमीलउरहमान, कृष्णा तिवारी, चंदन वर्मा, गोपालदास बंसल, जुबेर खान आदि पत्रकार मौजूद रहे।