क्या जिला मुख्यालय से होगा अगला जिलाध्यक्ष.

भाजपा जिलाध्यक्ष का चुनाव आज.

अनूपपुर / फिक्स मैच की तरह भाजपा के संगठनात्मक चुनाव की प्रक्रिया प्रदेश भर मे जारी है। अनूपपुर के लिये नये ( ? ) जिलाध्यक्ष के चुनाव हेतु आज बैठक का आयोजन किया गया है। वैसे कयास यही है कि सब कुछ फिक्स है ...लेकिन कार्यकर्ताओं का मन रखने के लिये चुनाव / रायशुमारी का आडंबर करने की परंपरा है। 
   आधाराम वैश्य के विवादित कार्यकाल के बाद बृजेश गौतम को एक बार फिर लोकसभा चुनाव के पहले दूसरी बार अध्यक्ष बनाया गया। कुशल प्रबंधक की छवि वाले बृजेश के साथ या उनके पूर्व कोतमा विधानसभा क्षेत्र का जिलाध्यक्ष पद एकतरफा कब्जा रहा है। अवधेश ताम्रकार, अनिल गुप्ता, जयसिंह मरावी ,दिलीप जायसवाल, बृजेश गौतम, रामदास पुरी,आधाराम वैश्य एवं एक बार फिर बृजेश में से सिर्फ रामदास पुरी एक्सीडेंटल  अध्यक्ष के रुप में कोतमा से बाहर के अध्यक्ष बने। अन्यथा जिला गठन के बाद कोतमा का इस पर पूर्ण कब्जा बरकरार है। यदि सबकुछ ठीक सेट हुआ तो अगला अध्यक्ष भी कोतमा से बना दिया गया हो तो किसी को कोई आश्चर्य नहीं होगा। बृजेश के साथ प्रेमचन्द  यादव, अजय शुक्ला, लवकुश शुक्ला, मुकेश जैन, गजेन्द्र सिंह शिकरवार , बृजमोहन सिंह, अखिलेश द्विवेदी,  हनुमान गर्ग, प्रभात मिश्रा, मुनेश्वर पाण्डेय , मनीष गोयनका सहित अन्य दावेदार ताल ठोंक रहे हैं। 
महामंत्री अखिलेश द्विवेदी जिला महामंत्री हैं । पहले 
जिला मंत्री, मण्डल महामंत्री रहे हैं।
संघ के स्वयंसेवक हैं, वकील हैं । १५ वर्ष से उपसरपंच लामाटोला हैं। । २० वर्ष से पंचायत के प्रतिनिधि का अनुभव है। अन्य लोग भी किसी ना किसी गुट के हैं या स्वयं का गुट है।
   आश्चर्यजनक एवं योजनाबद्ध तरीके से १६ साल बाद भी आज तक जिला मुख्यालय से पार्टी को अध्यक्ष के काबिल नेता नहीं मिला। ओमप्रकाश द्विवेदी, वासुदेव जगवानी, मूलचन्द्र अग्रवाल, प्रेमनाथ पटेल नये क्राईटेरिया मे एक्सपायर हो गये हैं। मनोज द्विवेदी ,गजेन्द्र सिंह या अन्य कोई योग्यता, काबिलियत, क्षमताओं के बावजूद इस बार  भी अध्यक्ष बन पाएगें ,संभावनाएँ बहुत कम हैं। गजेन्द्र सिंह की कडक युवा छवि ,सांसद हिमाद्री सिंह ,पूर्व विधायक दिलीप जायसवाल से नजदीकी पर भारी है , तो मनोज द्विवेदी का किसी गुट से ना जुडा होना, स्पष्टवादी होना उनके विरुद्ध जाता दिख रहा है। महामंत्री भूपेन्द्र सिंह ने भी अपनी दावेदारी रखी है। 
पुष्पराजगढ के सुदामा सिंह, नवल नायक, नरेन्द्र मरावी, राहुल पाण्डेय, विजय राठॊर, भारत सिंह, रामगोपाल द्विवेदी,हीरासिंह  अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार हैं। पार्टी इनमें से किसी नाम पर विचार कर सकती है। बात वही लेकिन, किन्तु, परन्तु पर टिकी है। भाजपा में कहावत है होईहै वही जो ...बडका नेता रचि राखा।