नवल सराफ पर हमला निन्दनीय -- मनोज द्विवेदी
 
**बढती हिंसा कांग्रेस सरकार की बडी नाकामी 
 
अनूपपुर / म प्र में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद अचानक हिंसक वारदातों मे इजाफा हुआ है। एक के बाद एक भाजपा नेताओं की हत्या के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक की निर्मम हत्या के साथ अब वरिष्ठ कांग्रेसी नेता भी अराजक तत्वों के शिकार हो रहे हैं। गुरुवार को कोतमा के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता नवल सराफ व उनके परिजनों पर कुछ लोगों ने प्राणघातक हमला कर दिया। हमले में श्री सराफ व तीन अन्य घायलों को अनूपपुर जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। 
   घटना की कडी निंदा करते हुए जिले के भाजपा नेता मनोज द्विवेदी ने कहा है कि श्री सराफ जिले वरिष्ठ नागरिक हैं। जिस तरह से हिंसक लोगों ने दिन दहाडे उन पर हमला किया वह दुखद व चिंताजनक है। जिला प्रशासन व पुलिस को इसपर तत्काल कडी कार्यवाही करना चाहिए।
   प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद लोगों में कानून व पुलिस का जरा भी खोफ नहीं रह गया है। अन्य स्थानों पर भाजपा के बहुत से नेताओं की हत्या ,संघ के पदाधिकारी की हत्या के साथ ही जनवरी माह में ही अनूपपुर जिले में एक के बाद एक क ई घटनाओं ने लोगों को भयभीत कर दिया है। यहाँ यह उल्लेखनीय है कि जिला मुख्यालय में वरिष्ठ पत्रकार पुष्पेन्द्र त्रिपाठी पर जमीनी विवाद मे हमला , अमरकंटक मे एक आयोजन के दॊरान पुलिस पर हमले के  बाद अब कोतमा मे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता तथा अन्य पर हमला किया गया। बतलाया गया है कि हमलावरों की हिम्मत इतनी बढ गयी है कि उन्होने दो अधिवक्ताओं को भी फोन पर धमकाते हुए परिणाम भुगतने की चेतावनी दी है।
      प्रदेश मे नयी सरकार बनने के साथ एक के बाद एक  हिंसक घटनाओं ने लोगों को डरा दिया है। जनता यह सोच कर भयभीत है कि जब नेता ,पत्रकार, प्रचारक, वरिष्ठ नागरिकों पर हमले हो रहे हैं तो आम नागरिकों की किसे चिंता होगी।