शिक्ष के व्यापारी बने उत्कृष्ट हायर सेकेंडरी स्कूल के प्राचार्य लाख नारायण पांडे  रिपोर्टर अंबिकेश प्रताप सिंह
 
*जिला - शिक्षाधिकारी सीधी के आदेशों की उड़ाई जा रही है धज्जियां रामपुर नैकिन उत्कृष्ट  विद्यालय प्राचार्य लाख नारायण पाण्डेय व्दारा*
 
*4 माह होने चले बाद भी नहीं मिल सकी जानकारी*
 
*रामपुर नैकिन उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य लाख नारायण पाण्डेय की भूमिका संदिग्ध*
 
*मामला उत्कृष्ट विद्यालय रामपुर नैकिन का
 शिक्षा के व्यापारी बने उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य लाख नारायण पांडे।
*सूचना के अधिकारो की उड़ाई जा रही धज्जियां उत्कृष्ट प्राचार्य के व्दारा*
 
दबंग रिपोर्टर,, रामपुर नैकिन जिला सीधी,
 
रामपुर नैकिन - मालूम हो कि 4 माह के बाद भी नहीं मिल सकी जानकारी जिले के रामपुर नैकिन उत्कृष्ट विद्यालय में सूचना के अधिकार जिसे संविधान की धारा 19.1 के तहत एक मूलभूत अधिकार का दर्जा दिया गया है धारा 19.1 जिसके तहत प्रत्येक नागरिक को बोलने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता दी गई है और उसे यह जानने का अधिकार है कि सरकार कैसे कार्य कर रही है इसकी क्या भूमिका हैं | तथा इसके क्या कारण है आज बाते सूचना के अधिकार के तहत प्रत्येक नागरिक को सरकार से और अन्य विभागो से प्रश्न पूछने का अधिकार देता है इसमें टिप्पणियाँ सारांश अथवा दस्तावेजों का अभिलेखों की प्रमाणित प्रतिया व सामग्री के नमूनों की मांग की जा सकती है लेकिन रामपुर नैकिन उत्कृष्ट विद्यालय में इंफार्मेशन की इस महत्वाकांक्षी योजना के अधिकार का खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है और लोगों के अधिकारों से खिलवाड़ किया जा रहा है रामपुर नैकिन उत्कृष्ट विद्यालय में दिनांक 01/09/18 को आरटीआई लगाई गई थी जिसमे दिनांक 29/09/18 को चाही गई जानकारी देने के लिए पावती में नियत की गई किन्तु उसके पहले ही रामपुर नैकिन विद्यालय के प्राचार्य लाख नारायण पाण्डेय के व्दारा आवेदनकर्ता को पत्र लिखकर जवाब मांगा गया की उक्त जानकारी क्यो लेना चाहते हैं  पत्र पाकर आवेदनकर्ता ने जवाब बनाकर प्राचार्य को भेजा जिसमे विद्यालय के प्राचार्य न्यायधीश बनकर जवाब देने की वजह सूचना के अधिकार आवेदन को ही निरस्त कर दिया और उस जवाब में लिखा था कि आपको चाही गई जानकारी नही दी जाएगी तब आवेदनकर्ता ने दिनांक 16/10/18 को जिला - शिक्षाधिकारी सीधी के यहा अपील किया तब श्री शिक्षाधिकारी महोदय जी ने सुनवाई करते हुए रामपुर नैकिन उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य लाख नारायण पाण्डेय को आदेश पारित करते हुए सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी अपीलार्थी को मुहैया करवाए मगर दुर्भाग्य की बात यह है कि जिला - शिक्षाधिकारी सीधी के आदेशों की अवहेलना लगातार  रामपुर नैकिन उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य लाख नारायण पाण्डेय व्दारा की जा रही है यह कोई एक पहला मामला नही है इसके पहले भी आरटीआई आवेदन लोगों व्दारा लगाये गए मगर वह आवेदन उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य लाख नारायण पाण्डेय की नजर में एक कोरे कागज से ज्यादा अहमियत नही रखता जानकारी न देना साफ जाहिर करता है कि दाल में काला नही बल्कि काले में दाल है | |
 जिला शिक्षा अधिकारी का बयान,,,,
 जब दूर भाषा से जिला शिक्षा अधिकारियों से संपर्क किया गया तो उनके द्वारा यह बताया गया कि लाख नारायण पांडे को हम पहले ही लिखित आदेश दे दिए हैं। अगर मेरे आदेश का पालन नहीं किया गया तो हम जरूर कठोर कार्रवाई उनके खिलाफ करेंगे।