दिखावे तक ही सीमित रहेगा सड़क सुरक्षा सप्ताह
 
मो अनीश तिगाला
 
अनुपपुर। जिलेभर में यातायात की जागरूकता विषय पर केवल 1 सप्ताह ही दिखावे के लिए यह सड़क सुरक्षा कार्यक्रम आयोजित किया जाता है इसके बाद वर्षभर जिले की यातायात व्यवस्था भगवान भरोसे चलती है यातायात का अमला ना तो आपको चौराहे पर मिलेगा और ना ही भीड़भाड़ वाले ऐसी जगह पर जहां पर ट्रैफिक की समस्या बनी रहती है जिले में यातायात जागरूकता का कार्यक्रम समय समय पर ना चलाने के कारण अनुपपुर जिले में दुर्घटनाओं में वृद्धि हुई है वही सूत्र यह भी बताते हैं कि इस वर्ष  सड़क दुर्घटना में जान जाने के  ग्राफ में भी पिछले वर्ष की तुलना में बढ़ोत्तरी हुई  है।
 
 
         यह है उद्देश्य
 
 जबकि सड़क सुरक्षा से संबंधित बहुत से कार्यक्रमों का आयोजन करने के द्वारा लोगों को सड़क पर कैसे वाहन चलाते हैं के बारे में प्रोत्साहित किया जाता है।
इस अभियान के पूरे सप्ताह के दौरान विभिन्न प्रकार के शैक्षणिक बैनर, सुरक्षा पोस्टर, सुरक्षा फिल्म, जेब गाइड और सड़क सुरक्षा से संबंधित पत्रक आदि सड़क पर यात्रा करने वाले यात्रियों को दिए जाते हैं। सड़क पर यात्रा करते समय वे सड़क सुरक्षा के बारे में प्रोत्साहित होते हैं; अर्थात्- यात्रा करने का योजनापूर्ण, अच्छी तरह से आयोजित और पेशेवर तरीका। वे लोग जो गलत तरीके से सड़क पर वाहन चलाते हैं, उन्हें गुलाब का फूल देकर उनसे सड़क सुरक्षा मानकों और यातायात के नियमों का पालन करने का अनुरोध किया जाता है।
 
 
कल से प्रारंभ
 
30 वे सड़क सुरक्षा सप्ताह 2019 भारत में 4 फरवरी सोमवार से 10 फरवरी रविवार तक मनाया जायेगा।सड़क सुरक्षा सप्ताह 2019 यह 30वीं वर्षगांठ होगी 
 
 बैनर पोस्टर तक सीमित
 
अनूपपुर जिले में यातायात सुरक्षा सप्ताह केवल बैनर पोस्टर तक ही सीमित रहता है जमीनी हकीकत में ना तो वाहन चालकों को जागरूक किया जाता है और ना ही सड़क सुरक्षा से संबंधित जानकारी लोगों तक इमानदारी से पहुंचाई जाती है इसका अमला केवल बैनर पोस्टर बांटकर फोटो खींचा कर इस सप्ताह का खानापूर्ति करते हैं