प्यारे मियां का फिल्मी कनेक्शन?:एक्टर रजा मुराद से भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में पूछताछ; नाबालिग लड़कियों से रेप के आरोपी प्यारे मियां की सोसायटी में शामिल होने का शक था
 



फिल्म अभिनेता रजा मुराद श्यामला हिल्स थाने में बयान दर्ज कराने भोपाल पहुंचे।

रजा मुराद ने पुलिस पूछताछ में कहा- मेरी प्यारे मियां से कभी मुलाकात नहीं हुई है

सोसाइटी में रजा मुराद का नाम, इसलिए उनके बयान लिए गए, वे साइन को फर्जी बता रहे

नाबालिग बच्चियों से यौन शोषण के आरोप में जेल में बंद प्यारे मियां द्वारा फर्जी सोसाइटी बनाने के नाम पर करोड़ रुपए हड़पने के मामले में मशहूर फिल्म कलाकार रज़ा मुराद श्यामला हिल्स थाने अपने बयान दर्ज कराए हैं। प्यारे मियां द्वारा बनाई गई फर्जी सोसायटी के 8 सदस्यों में रज़ा मुराद का नाम भी शामिल था। बुधवार को अपने बयान दर्ज कराने के बाद रज़ा मुराद ने कहा कि मेरी प्यारे मियां साहब से कभी मुलाकात नहीं हुई है और न उनसे मेरा कोई संबंध रहा है। उन्होंने अपनी सोसायटी में जो रजा नाम लिखा था, वो अधूरा सिग्नेचर है। मेरी पहचान रजा से नहीं, रजा मुराद से है।

पूछताछ के बाद रजा मुराद ने कहा कि मैं सिर्फ लेक-व्यू एन्क्लेव वेलफेयर हाउसिंग सोसायटी का मेंबर हूं, जिसे मैं हर साल सब्सक्रिप्शन देता हूं। जो सोसायटी के ड्यूज होते हैं। आगे कहा कि अगर मैं प्यारे मियां की सोसायटी का मेंबर होता तो ड्यू मैं वहां नहीं देता, मैं उन्हीं को देता। प्यारे मियां से मेरा कोई लेना-देना नहीं है। मैंने अभी अपने सिग्नेचर देखे, जो उर्दू में किए गए हैं। थोड़ी बहुत मुझे भी अंग्रेजी आती है और वो जो दस्तखत किए गए हैं, उसमें केवल रजा लिखा हुआ है। अधूरे सिग्नेचर हैं।

रजा मुराद ने आगे कहा कि ‘रजा से हो सकता है लोग मुझे न पहचानें, लेकिन जो मुझे जानते हैं वो मुझे रजा मुराद के नाम से जानते हैं। इसलिए अगर मैं सिग्नेचर करूंगा तो रजा मुराद के ही सिग्नेचर करूंगा। रजा लिखने का कोई मतलब नहीं है। उनसे मेरा कोई लेना-देना नहीं है।’

फिल्म कलाकार रजा मुराद भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में बयान दर्ज करने पहुंचे थे।

मैं कभी प्यारे मियां की पार्टी में नहीं गया : रजा मुराद

रजा मुराद ने कहा कि मेरे साथ उन्होंने फोटो खिंचवाई होगी। हालांकि मुझे इस पर शक है। रस्ते चलते फोटो खिंचवा ली हो, उसे मैं नहीं कह सकता हूं। कभी मैंने उनकी पार्टी अटेंड नहीं की, न कभी उनके घर गया। मैं फर्जी सिग्नेचर की शिकायत की है। इसलिए मैं यहां पर आया हूं। मैंने ये जो कुछ भी है, वो नकली है और मेरा इससे कोई ताल्लुक नहीं है। मुझे ताज्जुब इस बात का है कि 80 हजार रुपए महीना अगर वो ले रहे थे तो वो पैसा कहां जा रहा है, वो पैसा किसके खाते में जा रहा है और अगर वो किसी के खाते में जा रहा था तो उसे कौन निकाल रहा था। अब अगर सोसाइटी के नाम पर चेक दे रहे हैं तो वह किसी एक के नाम नहीं हो सकता है। ऐसे में उसे कोई एक भुना भी नहीं सकता है। अब इसकी छानबीन होनी चाहिए।

पुलिस ने कहा- रजा मुराद का बयान लिया गया है

श्यामला हिल्स थाना प्रभारी तरुण भाटी ने कहा की प्यारे मियां फर्जी सोसायटी मामले में, रज़ा मुराद का नाम था। इसलिए उन्हें बुलाकर उनका बयान लिया गया है। साइन को वह फर्जी बता रहे है जिसकी जांच की जा रही है। प्यारे मियां करीब सवा करोड़ रुपये फर्जी सोसायटी से कमा चुके हैं। रज़ा मुराद ने भी फर्जी हस्ताक्षर इस्तेमाल करने के मामले में प्यारे मियां के खिलाफ शिकायत की है।

फिल्म अभिनेता रजा मुराद से श्यामला हिल्स थाने में पूछताछ।

प्यारे मियां ने फर्जी सोसायटी बनाकर हड़पे सवा करोड़

किशोरियों से दुष्कर्म के मामले में रिमांड पर चल रहे प्यारे मियां के नये-नये कारनामे सामने आ रहे हैं। एयरटेल कंपनी से प्यारे ने 60 लाख नहीं बल्कि सवा करोड़ रुपए हड़पे थे। प्यारे मियां ने कई गणमान्य लोगों का नाम शामिल कर फर्जी सोसायटी बनाई थी। बाद में लोगों के नाम हटा दिए और उसके आधार पर वह एयरटेल कंपनी से रुपये वसूल रहा था।

श्यामला हिल्स थाना पुलिस के मुताबिक, आरोपित प्यारे मियां ने अंसल अपार्टमेंट के ई-ब्लॉक में अपनी पत्नियों और बेटे के नाम से तीन फ्लैट लिए थे। इसी ब्लॉक में भारती एयरटेल कंपनी का भी एक फ्लैट था। बिल्डिंग की छत पर कंपनी का एक मोबाइल टावर भी लगा हुआ था, जिसका संचालन एयरटेल कंपनी कर रही थी। 10 साल पहले प्यारे मियां ने वकील के माध्यम से कंपनी को नोटिस भेजकर टावर हटाने की बात कही। इसके साथ ही वह कंपनी के कर्मचारियों को विभिन्न तरीकों से परेशान करने लगा। कंपनी ने जब प्यारे मियां से बात की तो उसने टावर के किराए का पैसा मांगा। इस तरह कंपनी से करीब सवा करोड़ रुपये ऐंठ लिए।

दो महीने पहले नाबालिग लड़कियों ने कहा था- प्यारे मियां यौन शोषण करता

भोपाल की रातीबड़ पुलिस ने जुलाई महीने में 5 नाबालिग लड़कियों को नशे की हालत में सड़क पर घूमते वक्त पकड़ा था। पूछताछ में उन्होंने प्यारे मियां पर ज्यादती और उसकी सहयोगी स्वीटी पर नौकरी के नाम पर फंसाने के आरोप लगाए थे। पुलिस ने प्यारे मियां को कश्मीर के श्रीनगर में पकड़ा था।