शारजाह, आईपीएल के 13वें सीजन का 34वां मैच दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने जीता. शारजाह में शनिवार रात उसने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को 5 विकेट से मात दी. दिल्ली ने 19.5 ओवरों में 185/5 रन बनाकर जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया. बेहतरीन फॉर्म में चल रहे 'गब्बर' शिखर धवन ने दिल्ली की और से 101 रनों (58 गेंदों में) की नाबाद पारी खेली. आखिरी ओवर में अक्षर पटेल (नाबाद 21 रन, 5 गेंदों में) ने तीन छक्के लगाकर जीत दिलाई. इस जीत के साथ ही दिल्ली कैपिटल्स की टीम मजबूती के साथ आगे बढ़ते हुए एक बार फिर अंक तालिका में टॉप पर पहुंच गई है. 7वीं जीत के साथ उसके खाते में 14 अंक आ गए. यह उसका 9वां मैच था. इतने ही मैचों में चेन्नई की यह छठी हार रही. इस सीजन में दिल्ली ने चेन्नई के खिलाफ पिछले मुकाबले में 25 सितंबर को 44 रनों से जीत पाई थी. 180 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली को दूसरी ही गेंद पर झटका लगा. पृथ्वी शॉ (0) को दीपक चाहर ने अपनी ही गेंद पर लपक लिया. 26 के स्कोर पर अजिंक्य रहाणे (8) भी चाहर को अपना विकेट दे गए.कप्तान श्रेयस अय्यर (23) ने शिखर धवन के साथ 68 रनों की साझेदारी की. ड्वेन ब्रावो ने उन्हें लौटाया. इसके बाद धवन और मार्कस स्टोइनिस की जोड़ी पर जिम्मेदारी आई. लेकिन आक्रामक स्टोइनिस (24) का तीसरा विकेट गिरा. शार्दुल ठाकुर को ये सफलता मिली.19वें ओवर में एलेक्स कैरी (4) सैम करन की गेंद पर विकेट गंवा बैठे. गब्बर 57 गेंदों पर शतक पूरा कर चुके थे. आखिरी ओवर में 17 रनों की दरकार थी. अक्षर पटेल ने इस ओवर में रवींद्र जडेजा की दूसरी और तीसरी गेंद पर लगातार दो छक्के जमाने के बाद चौथी गेंद पर दो रन लिये और एक गेंद शेष रहते एक और छक्के से जीत दिला दी.   

19वें ओवर में मैच ऐसे बना रोमांचक 
सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने तीन जीवनदान का फायदा उठते हुए इंडियन प्रीमियर लीग में पहली शतकीय पारी खेली. दिल्ली को आखिरी दो ओवर में 21 रन बनाने थे, लेकिन सैम कुरेन ने 19वें ओवर में सिर्फ चार रन दिए और एलेक्स कैरी (4) का विकेट चटका मैच रोमांचक बना दिया.

दिल्ली कैपिटल्स ने ऐसे जीता यह मैच
ड्वेन ब्रावो चोटिल होने के कारण मैदान में नहीं थे ऐसे में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी ओवर में जडेजा को गेंद थमाई, जिनके खिलाफ अक्षर पटेल ने तीन छक्के लगाकर दिल्ली की जीत पक्की कर दी. उन्होंने पांच गेंदों में नाबाद 21 रन बनाए, जिससे दिल्ली ने मौजूदा सत्र में लक्ष्य का पीछा करते हुए पहली जीत दर्ज की.

धवन ने 3 'जीवनदान' का फायदा उठाया 
धवन ने तीन जीवनदान का फायदा उठाते हुए अपनी शतकीय पारी में 14 चौके और एक छक्का लगाया. उन्हें पहला जीवनदान सातवें ओवर में जडेजा की गेंद पर मिला, जब दीपक चाहर ने कैच टपका दिया. इसके बाद 10वें ओवर में जब वह 50 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे तब ब्रावो की गेंद पर धोनी ने उनका मुश्किल कैच छोड़ दिया. उन्हें तीसरा जीवनदान अंबति रायडू ने 16वें ओवर में शार्दुल ठाकुर की गेंद पर कैच छोड़कर दिया. इस समय वह 80 रन पर खेल रहे थे.

ऐसे शुरू हुई दिल्ली की जवाबी पारी
लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली की टीम को दीपक चाहर ने पारी की गेंद ही पृथ्वी शॉ को खाता खोले बगैर पवेलियन भेजा. अजिंक्य रहाणे एक बार लय हासिल करने में नाकाम रहे और चौथे ओवर की पहली गेंद पर चाहर का दूसरा शिकार बने. प्वाइंट पर कुरेन ने शानदार कैच लपक कर 10 गेंद में उनकी आठ रनों की पारी का अंत किया.इसी ओवर में शेन वॉटसन ने श्रेयस अय्यर को रन आउट करने का मौका गंवा दिया. उन्होंने मौके का फायदा उठाते हुए शार्दुल ठाकुर की गेंद पर पारी का पहला छक्का जड़ा. धवन ने 10वें ओवर में ब्रावो की गेंद पर एक रन लेकर 29 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया. अय्यर हालांकि 23 गेंद में 23 रन बनाकर ब्रावो की गेंद पर डुप्लेसिस को कैच दे बैठे. 
उन्होंने धवन के साथ तीसरे विकेट के लिए 68 रनों की साझेदारी की. इसके बाद बल्लेबाजी के लिए आए मार्कस स्टोइनिस ने कर्ण शर्मा की गेंद पर छक्का और चौका लगाकर अपने इरादे जाहिर कर दिए. वह 14 गेंदों में 24 रन बनाकर शार्दुल ठाकुर का शिकार बने.

चेन्नई ने 179/4 का स्कोर बनाया था

फाफ डुप्लेसिस (58) की अर्धशतकीय पारी के बाद आखिरी ओवरों में अंबति रायडू और रवींद्र जडेजा की ताबड़तोड़ पारियों से चेन्नई सुपर किंग्स ने चार विकेट पर 179 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया था. 

चेन्नई के बल्लेबाजों ने आखिरी पांच ओवरों में 67 रन जोड़े, जिसमें जडेजा ने 13 गेंदों में चार छक्के की मदद से नाबाद 33 और रायडू ने 25 गेंदों में चार छक्के और एक चौका की मदद से नाबाद 45 रन बनाए. दोनों ने महज 21 गेंदों में 50 रन की साझेदारी की.

इससे पहले डुप्लेसिस ने शेन वॉटसन (36) के साथ दूसरे विकेट के लिए 87 रनों की साझेदारी कर बाद के बल्लेबाजों के लिए मजबूत नींव रखी. 

CSK के की शुरुआत तो खराब रही 

चेन्नई के लिए टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी का फैसला उस समय गलत लगा, जब युवा तेज गेंदबाज तुषार पांडे ने शुरुआती ओवर की तीसरी गेंद पर ही चेन्नई के सलामी बल्लेबाज सैम कुरेन को खाता खोले बगैर पवेलियन भेज दिया. इसके बाद कैगिसो रबाडा के द्वारा किया गया दूसरा ओवर मेडन रहा.

वॉटसन ने तीसरे ओवर में तुषार देशपांडे के खिलाफ दो चौके, जबकि डुप्लेसिस ने एनरिक नोर्तजे के खिलाफ पांचवें ओवर में छक्के और फिर दो चौके लगाकर हाथ खोले. इसके बाद दिल्ली के गेंदबाजों ने इस अनुभवी जोड़ी को तेजी से रन बनाने से रोके रखा. दोनों ने हालांकि आर. अश्विन द्वारा किए गए 10वें ओवर में 15 रन और देशपांडे के 11वें ओवर में 14 रन बटोरे.
डुप्लेसिस-वॉटसन की मजबूत साझेदारी 

डुप्लेसिस ने इसके बाद 12वें ओवर में एक रन के साथ 39 गेंदों में आईपीएल का 16वां और मौजूदा सत्र का चौथा अर्धशतक पूरा किया , लेकिन अगली ही गेंद पर नोर्तजे ने वॉटसन को बोल्ड कर दोनों के बीच दूसरे विकेट के लिए 87 रनों की साझेदारी को तोड़ दिया.

वॉटसन ने 28 गेंदों में छह चौके की मदद से 36 रन बनाए. डुप्लेसिस को इसके बाद अक्षर पटेल की गेंद पर जीवनदान भी मिला, जब शिखर धवन ने उनका कैच टपका दिया, वह हालांकि इसका फायदा नहीं उठा सके और 15वें ओवर में रबाडा की गेंद इस बार धवन ने इस मुश्किल कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की. उन्होंने 47 गेंदों की पारी में छह चौके और दो छक्के लगाए. 

रायडू और जडेजा की आतिशी पारियां
कप्तान महेंद्र सिंह धोनी एक बार फिर नाकाम रहे और पांच गेंद में तीन रन बनाकर नोर्तजे का दूसरा शिकार बने. जडेजा और रायडू ने हालांकि आखिरी ओवरों में बड़े शॉट लगाकर क्रीज पर धोनी की कमी को महसूस नहीं होने दिया. दोनों के रबाडा के 19वें और नोर्तजे के 20वें ओवर में 16-16 रन बटोरे. जडेजा ने नोर्तजे के आखिरी ओवर में लगातार दो छक्के लगाए.