नई दिल्ली|  सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये देश भर में एक महीने से अधिक समय से लागू लॉकडाउन (बंद) में और ढील देते हुए संक्रमण से मुक्त इलाकों में गली-मोहल्लों की अलग अलग स्वतंत्र रूप से चलने वाली खुदरा दुकानों को खोलने की छूट दे दी है। इनमें कपड़े, मोबाइल फोन, हार्डवेयर और स्टेशनरी जैसी हालांकि की दुकानें भी होंगी।  सरकार के इस फैसले के बाद भी दिल्ली, असम और हिमाचल प्रदेश में दुकानें नहीं खोलने का फैसला लिया है। इतना ही नहीं कई राज्यों को पूर्ण लॉकडॉउन का ऐलान किया गया है। केन्द्र सरकार के फैसले में बड़े बाजार, मॉल आदि तीन मई तक बंद रहेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में शॉपिंग मॉल को छोड़कर सभी दुकानों को खोलने की अनुमति दे दी गई है। इनके अलावा माल, शराब, सिगरेट, गुटखा आदि की दुकापर रोक जारी रहेगी। ई-वाणिज्य पर गैर-जरूरी सामान की बिक्री पर भी रोक बनाए रखने का निर्णय किया गया है। रेस्तरां, सैलून तथा नाई की दुकानें भी अभी नहीं खुल सकेंगी क्योंकि ये दुकानों के बजाय सेवाओं की श्रेणी में आते हैं। मंत्रालय ने यह भी स्पष्ट किया है कि कोविड-19 हॉटस्पॉट और नियंत्रण वाले क्षेत्रों में किसी भी तरह की दुकानें अभी नहीं खुलेंगी।

दिल्ली में नहीं लागू होगा दुकानों को खोलने का फैसला

दिल्ली सरकार केंद्र सरकार के दुकानों को कुछ शर्तों के साथ खोलने के फ़ैसले को अभी लागू नहीं करेगी। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शनिवार को कहा कि अभी इस पर कोई फैसला नहीं किया गया है। शाम तक विचार करने के बाद ही कोई अंतिम फैसला लिया जाएगा। दिल्ली कोरोना वायरस संक्रमण के मामले में देश में तीसरे स्थान पर है। यहां 2514 संक्रमित हैं और 53 लोगों की मौत हुई है। राजधानी में वायरस को देखते हुए 92 नियंत्रण जोन बनाये गये हैं जो सील हैं।  सूत्रों ने कहा कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए पूर्णबंदी में किसी प्रकार की ढील दे पाना संभव नहीं लगता है। 


हिमाचल ने दुकानें फिर खोलने के आदेश पर फैसला अभी नहीं किया 

हिमाचल प्रदेश के अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि कर्फ्यू लागू होने के बीच गृह मंत्रालय (एमएचए) के नवीनतम आदेश के अनुसार राज्यभर में  गैर-जरूरी सामान और सेवाएं प्रदान करने वाली दुकानों को फिर से खोलने पर फैसला लिया जाना बाकी है। हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री कार्यालय ने हिमाचल प्रदेश सरकार ने वरिष्ठ नागरिकों और आम जनता को सुबह की सैर की सुविधा प्रदान करने के लिए रविवार से सुबह 5.30 बजे से सुबह 7 बजे तक कर्फ्यू में ढील देने का फैसला किया गया है। राज्य सरकार ने सोमवार से मौजूदा तीन घंटों के बजाय चार घंटे के लिए कर्फ्यू में छूट देने का फैसला किया है। इससे न केवल सोशल डिस्टेंसिंग बल्कि दुकानों पर कम भीड़ भी सुनिश्चित होगी

असम सरकार सोमवार को मोहल्ले की दुकानें खोलने के बारे में फैसला लेगी

मोहल्ले की दुकानें खोलने के बारे में केंद्रीय गृह मंत्रालय की नवीनतम अधिसूचना पर असम सरकार राज्य में स्थिति की समीक्षा के बाद सोमवार को फैसला लेगी। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। राज्य के मुख्य सचिव कुमार संजय कृष्ण ने शनिवार को कहा कि अभी तक लॉकडाउन के नियमों में कोई ढील नहीं दी गई है और सरकार ने दुकानों, ब्यूटी पार्लरों आदि के खोलने पर कोई निर्णय नहीं लिया है। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ''राज्य सरकार दो दिनों तक स्थिति देखने के बाद सोमवार को इस पर विचार करेगी। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) जी पी सिंह ने लोगों से राज्य सरकार के निर्देशों की प्रतीक्षा करने का आग्रह किया। असम में कोविड-19 के 35 मामले सामने आए हैं। उनमें से 19 ठीक हो गए हैं जबकि एक की मौत हो गई है।

राजस्थान में  दिन भर खुलती-बंद होती रहीं दुकानें

लॉकडाउन के दौरान दुकानें खोले जाने के केंद्र सरकार के आदेश को लेकर राजस्थान के दुकानदारों में शनिवार को ऊहापोह की स्थिति बनी रही। कुछ इलाकों में दुकानें खुलीं और बाद में बंद हो गयीं। दुकानदार दिन भर अधिकारियों और अपने-अपने संगठनों के पदाधिकारियों से इस आदेश के संबंध में जानकारी लेते रहे।  इस आदेश के बाद राज्य के कई शहरों एवं कस्बों में कुछ दुकानें खुलीं लेकिन पुलिसकर्मियों या दुकान संघ के पदाधिकारियों ने उन्हें बंद करवा दिया।  दुकानदारों में इस आदेश को लेकर काफी ऊहापोह की स्थिति रही। वे स्थिति स्पष्ट करने के लिए संबंधित अधिकारियों एवं अपने संघों के पदाधिकारियों को फोन करते रहे। हनुमानगढ़ के एक दुकानदार ने कहा कि दुकानें खोलने की अनुमति संबंधी समाचार पढ़ने के बाद वह और उसके कई साथी दुकानदार सुबह से ही दुकान खोलने के लिए तैयार बैठे हैं, लेकिन स्थिति स्पष्ट नहीं है। 
     
मध्य प्रदेश के भोपाल में लॉकडाउन में 3 मई तक कोई राहत नहीं
भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने आज कहा कि भोपाल में 3 मई तक लॉक डाउन में कोई छूट नहीं मिलेगी। उसके बाद समीक्षा कर निर्णय लिया जाएगा। पिथोड़े की ओर से जारी किए गए वक्तव्य में कहा गया है कि अभी जो व्यवस्थायें लागू हैं, उसी अनुसार दूध, सब्जी और किराना दुकानें चालू रहेंगी। अन्य कोई अतिरिक्त छूट नहीं दी गई है।


यूपी के सहारनपुर में अभी नहीं खुलेंगी दुकानें

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में नगर एवं कस्बों में प्रशासन दुकानें और बाजार खोलने में अभी कोई ढील देने को तैयार नहीं है।  जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने शनिवार को यहां बताया केन्द्र और राज्य सरकार के इस बाबत मिले निदेर्शों का हम सहारनपुर की स्थिति के अनुसार आंकलन करेंगे और उसके बाद ही किसी निर्णय पर पहुंच पांएगे। उन्होंने दो टूक कहा कि सहारनपुर में आज की तारीख में कारोना संक्रमण के 160 मामले है और जिले के दूसरे बडे नगर देवबंद में भी 8० मामले होने से प्रशासन दुकानें और बाजार खोलने का जोखिम लेने को आश्वस्त नहीं है।

यूपी के कानपुर में लॉकडॉउन में किसी प्रकार की छूट नहीं
उत्तर प्रदेश में कानपुर जिला प्रशासन ने साफ किया है कि नगर में दुकाने खुलने अथवा अन्य गतिविधियों की कतई इजाजत नहीं है और लॉकडॉउन के नियमों को अक्षरश: पालन किया जायेगा। जिलाधिकारी डॉ ब्रह्मदेव राम तिवारी ने शनिवार को कहा कि कानपुर नगर में कोरोना पॉजिटिव के ज्यादा केस होने के चलते यहां दुकानें खोलना संभव नहीं है हालांकि तीन मई तक लॉक डाउन की अवधि में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति डोर टू डोर डिलीवरी यथावत जारी रहेगी। जिला प्रशासन के आदेश का उल्लंघन करने वाले पर विधिक कार्रवाई की जाएगी।

तमिलनाडु के 5 शहरों में दोपहर 3 बजे तक ही खुलेंगी दुकानें 
तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने पांच शहरों में टोटल लॉकडाउन के आदेश के मद्देनजर कहा कि शनिवार को आवश्यक दुकानें दोपहर 3 बजे तक खुलेंगी। लॉकडॉउन के दौरान आवश्यक दुकानों को सुबह 6 बजे से 1 बजे के बीच कार्य करने की अनुमति दी गई। घनी आबादी वाले शहरों में कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए पलानीस्वामी ने शुक्रवार को चेन्नई, कोयम्बटूर, तिरुप्पुर, सलेम और मदुरै में पूरी तरह से लॉकडाउन का आदेश दिया पलानीस्वामी द्वारा शुक्रवार को राज्य में फैले कोरोनोवायरस की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता के बाद यह निर्णय लिया गया। डीएमके के अध्यक्ष एम के स्टालिन ने राज्य सरकार से शनिवार को दुकान का समय बढ़ाने का अनुरोध भी किया था ताकि लोग आवश्यक वस्तुओं को खरीद सकें।

पलानीस्वामी ने कहा कि 26 से 29 अप्रैल तक चेन्नई, कोयम्बटूर और मदुरै में लॉकडाउन को सुबह 6 बजे से 9 बजे के बीच सख्ती से लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा, 26 से 28 अप्रैल के बीच तिरुप्पुर और सलेम में सुबह 6 बजे से रात 9 बजे के बीच लॉकडाउन जारी रहेगा। उनके अनुसार, राज्य में दिन में दो बार प्रभावित क्षेत्रों की सफाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सॉफ्टवेयर कंपनियों के लिए केवल घर से काम करने की अनुमति है और अन्य निजी कंपनियों को इन पांच जिलों में काम नहीं करना चाहिए।