बिलासपुर। साथी हाथ बढ़ाना..एक अकेला थक जाएगा, मिलकर बोझ उठाना। इन पंक्तियों को आज बिलासपुर वासियों ने अरपा किनारे छठ घाट पर जीवंत कर दिया। अरपा किनारे आज हजारों लोग जुटे। इन लोगों में एक बैचेनी थी। बैचेनी थी अपनी अरपा मैया को अनवरत प्रवाहित देखने की। सुबह ६ बजे से ही घाट पर छठ पर्व जैसा नजारा था। लेकिन आज आमजन अरपा के लिये स्वच्छता का पर्व मनाने आये थे। कुछ फावड़ा उठाकर जलकुंभी निकाल रहे थे । तो बाकी मानवश्रृखंला बनाकर एक-दूसरे को तसला बढ़ाते हुये जलकुंभी बाहर फेंकते जा रहे थे। उल्लेखनीय है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल नदियों को पुर्नजीवित करने चिंता व्यक्त कर चुके हैं। बिलासपुर में अरपा नदी को पुराने स्वरूप में लाने के लिये मुख्यमंत्री के विशेष निर्देश हैं। इसी क्रम में जिला प्रशासन द्वारा मंगलवार से दो दिवसीय अरपा उत्थान अभियान का आयोजन किया जा रहा है। जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के आह्वान पर छठ घाट पर १० हजार से अधिक लोग श्रमदान करने पहुंचे। हजारों की भीड़ में किसी को कुछ बताना नहीं पड़ रहा था। जो भी पहुंचा स्वस्फूर्त सफाई करने जुट गया। ' अरपा उत्थान ' अभियान में जनप्रतिनिधियों से लेकर जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन के तमाम अधिकारी सुबह से ही छठ घाट पहुंचकर नागरिकों के साथ सफाई में जुट गये। कार्यक्रम में संभागायुक्त टी सी महावर ने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि अरपा अपने पुराने स्वरूप में जरूर लौटेगी। अरपा को पुर्नजीवित करने के लिये नालों का पानी नदी में जाने से रोकना होगा। गंदे नालों का पानी डायवर्ट करने की आवश्यकता है। इसके साथ ही नदी किनारे वृहद रूप से वृक्षारोपड़ की जरूरत है। कलेक्टर डॉ संजय अलंग ने कहा कि आज बिलासपुर के नागरिकों ने हाथ से हाथ मिलाकर काम किया है। हम सबके प्रयासों से ही अरपा साफ होगी। मैं सभी से अपील करता हूं कि अपने घरों में वाटर हॉर्वेस्टिंग सिस्टम अवश्य लगाएं। जिससे भू-जल स्तर रिचार्ज हो सके। नगर निगम कमिश्नर प्रभाकर पांडे ने लोगों से ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपड़ करने की अपील की। हरियर बिलासपुर बनाने के लिये सभी लोग बारिश के मौसम में १०-१० पेड़ लगायें। कार्यक्रम में राग बैंड की दृष्टिहीन छात्राओं ने 'अरपा पैरी के धार' गीत गाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। सफाई अभियान में पहुंचे नागरिकों को पौधे वितरित किये गये। सभी से अपने घर के बाहर या उपयुक्त जगह पर वृक्षारोपण की अपील की गयी। इसके साथ ही लोगों को जल संरक्षण के लिये जागरूक करने नगर निगम द्वारा वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम का मॉडल प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम में सांसद अरुण साव, बिलासपुर विधायक शैलेष पांडे, बेलतरा विधायक रजनीश सिंह, मस्तूरी विधायक डॉ कृष्णमूर्ति बांधी, महापौर किशोर राय, अटल श्रीवास्तव, पूर्व महापौर श्रीमती वाणी राव समेत बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि और नागरिक उपस्थित रहे।