प्रयागराज,नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी को लेकर दिल्ली के शाहीन बाग की तरह यूपी में भी कई जगह प्रदर्शन जारी है। वहीं दूसरी ओर प्रयागराज में कांग्रेस कार्यकर्ता हसीब अहमद कब्रिस्तान पहुंचे और अपने पूर्वजों की कब्र के पास खड़े होकर अजीबोगरीब प्रदर्शन किया। इसका एक विडियो भी सामने आया है जिसमें वह नाटकीय अंदाज में भावुक होते दिख रहे हैं।जब उनसे पूछा गया कि वह कब्रिस्तान में क्या कर रहे हैं तो हसीब अहमद ने अपना डर जाहिर करते हुए कहा कि जिस तरह सीएए-एनआरसी को लेकर विवाद हो रहा है उससे उन्हें डर है कि उन्हें डिटेंशन कैंप में न भेज दिया जाए। उन्होंने कहा कि उनके पास दस्तावेज भी नहीं हैं।

 

हमारे पास दस्तावेज नहीं है- हसीब अहमद

हसीब अहमद ने कहा, 'एनआरसी और सीएए को लेकर देश के अंदर विभाजन की राजनीति चल रही है। हमारे पास कोई कागजात नहीं है दिखाने के लिए, जिस तरह पीएम और शाह लगातार हमला कर रहे हैं कि अगर आप सीएए और एनआरसी की जद में आ रहे हैं तो आपको अहम दस्तावेज दिखाने होंगे।'

 

'इनकी कब्रों को भी डिटेंशन कैंप में रखा जाए'

हसीब आगे कहते हैं, 'तो हम लोग अपनी पूर्वजों की कब्रगाह पर आए हुए हैं क्योंकि हमारे पास कुछ बचा नहीं है दिखाने को।' उन्होंने आगे कहा कि वह अपने पुरखों से कहने आए हैं कि उठकर उनके भारतीय होने की गवाही दीजिए। हसीब ने आगे कहा, 'और अगर हमें डिटेंशन कैंप में रखा गया, तो मैं कहूंगा कि हमारे पुरखों को भी कब्रगाह से बाहर निकाला जाए और इनकी कब्रों को वहां रखा जाए।'