भरतपुर । भरतपुर  में पहले चरण के पंचायत चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न होने के बाद जीत के जश्न में दो पक्ष आपस में भिड़ गए। इतना ही नहीं मामला बढ़ने के बाद एक पक्ष ने तो फायरिंग भी कर दी। दुकानें बंद कर दी गई और लोगों ने पथराव कर दिया, जिससे वहां तनाव पैदा हो गया। बताया जा रहा है ‎कि वहीं बांसवाड़ा में मतगणना के बाद विवाद हो जाने से वहां भी पथराव हो गया। ‎जिसमें 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए। हालां‎कि सूचना के बाद मौके पर पहुंचे भारी पुलिस ने हालात पर काबू पा ‎लिया। ‎फिलहाल, मामले में 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।  बताया गया ‎कि सरपंच पद के चुनाव के बाद हारे हुए प्रत्याशी के समर्थकों ने जीते हुए प्रत्याशी के समर्थकों के साथ मारपीट कर दी। दोनों तरफ से झगड़ा बढ़ता गया और फिर एक पक्ष ने फायरिंग कर दी। ‎इस फायरिंग से क्षेत्र में अफरा-तफरी मच गई और लोग दहशत में आ गए और आनन-फानन में व्यापारियों ने अपनी दुकानों को बंद कर दिया। इस झगड़े के दौरान एक पक्ष के लोग छत पर चढ़कर पथराव करने लगे। ‎जिसकी सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और हालात का जायजा लेकर मामला शांत कराया। फिलहाल मौके पर तनाव की स्थिति बनी हुई है। बता दें ‎कि कैथवाड़ा के अलावा भरतपुर जिले के जुरहरा थाना क्षेत्र के बामनवाड़ी गांव में भी चुनाव को लेकर झगड़ा हो गया और लोगों ने छतों पर चढ़कर पथराव किया। बाद में वहां भी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया। वहीं बांसवाड़ा जिले के घाटोल क्षेत्र के कंठाव गांव में मतगणना के बाद दो पक्ष आपस में उलझ गए। इसमें 5 पुलिसकर्मी घायल हो गए और इनमें से एक पुलिसकर्मी के पांव हुआ फ्रैक्चर हुआ है, वहीं दूसरे के सिर में चोट आई है। ‎फिलहाल अभी घायल पुलिसकर्मियों को बांसवाड़ा के महात्मा गांधी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। एसपी केसर सिंह ने कहा आरोपियों के खिलाफ़ सख्त कार्रवाई होगी।