कप्तान विराट कोहली के रिकॉर्ड अर्द्धशतक से भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के पहले टी-20 में छह विकेट से जीत हासिल की। दूसरे मुकाबले में रविवार को भारतीय टीम गेंदबाजी और फील्डिंग में बेहतर प्रदर्शन कर सीरीज अपने नाम करने के इरादे से उतरेगी।टीम इंडिया ने पिछले माह बांग्लादेश को 2-1 से हराकर सीजन की पहली टी-20 सीरीज जीती थी। रविवार को जीत से न केवल घरेलू मैदान पर सबसे छोटे प्रारूप में लगातार दूसरी जीत दर्ज करने का मौका मिलेगा बल्कि अगले साल होने वाले टी-20 विश्व कप के लिए टीम संयोजन को लेकर प्रयोग करने का भी अवसर रहेगा। उन खिलाड़ियों को भी आजमाया जा सकता है जिनकी टीम में जगह पक्की नहीं है।

शुक्रवार को भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ सातवीं जीत दर्ज की।भारतीय टीम ने टी-20 क्रिकेट में 18.4 ओवर में 208 रन का लक्ष्य हासिल किया जो इस प्रारूप में लक्ष्य का पीछा करते हुए उसकी सबसे बड़ी जीत है। लोकेश राहुल ने 40 गेंद में 62 रन बनाए जबकि विराट कोहली ने करिअर की सर्वश्रेष्ठ 94 रन की नाबाद पारी खेली। 

गेंदबाजी और फील्डिंग में सुधार जरूरी 

कोहली के नेतृत्व में बल्लेबाजों का प्रदर्शन अच्छा रहा लेकिन गेंदबाज अपेक्षाओं पर खरे नहीं उतर सके। एविन लुइस, शिमरोन हेतमायर और कप्तान किरोन पोलार्ड ने भारतीय गेंदबाजों को नहीं बख्शा। दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के खिलाफ प्रभावी रहे दीपक चाहर प्रभाव नहीं छोड़ सके। पेसर भुवनेश्वर और वाशिंगटन सुंदर को विकेट नहीं मिला। अब देखना यह है कि गेंदबाजी आक्रमण यथावत रहता है या कुलदीप यादव को उतारा जाता है। क्षेत्ररक्षण में भी सुंदर और रोहित शर्मा ने कुछ कैच टपकाए जबकि कई फालतू रन भी फील्ड में गए।

पोलार्ड भी गेंदबाजों पर बरसे 

दूसरी ओर कैरेबियाई टीम वापसी करके सीरीज को जीवंत बनाए रखना चाहेगी लेकिन इसके लिए उसे भारतीय बल्लेबाजों खासकर कोहली के बल्ले पर अंकुश लगाना होगा। वेस्टइंडीज ने 23 रन अतिरिक्त दिए और इस पर भी काबू करना होगा। वेस्टइंडीज के कप्तान किरोन पोलार्ड का भी मानना है कि टीम के बल्लेबाजों ने तो अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन गेंदबाज 200 से ज्यादा रन का बचाव नहीं कर पाए। गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन न कर पाने और योजनाओं को सही अमली जामा न पहनाने के कारण हमें हार का सामना करना पड़ा। हमने 23 अतिरिक्त रन दिए जिसमें 14 गेंदें वाइड थी।  

रोहित और कोहली के बीच अलग रेस 

भारतीय कप्तान विराट कोहली और ओपनर रोहित शर्मा के बीच रन बनाने को लेकर अलग रेस चल रही है। पिछले मैच में विराट ने अर्द्धशतक लगाकर 23वीं बार पचास से ज्यादा रन की पारी खेली। उन्होंने रोहित को पछाड़ा जिन्होंने 22 बार ऐसा किया है। जहां तक बात रन की है तो रोहित के 2547 रन हैं जबकि कोहली उनसे महज तीन रन दूर हैं। उनके 2544 रन हैं। इस मैच में देखते हैं हिटमैन रोहित आगे रहते हैं या रनमशीन कोहली।  

पिच स्पिनरों की मददगार 

दो अंतरराष्ट्रीय मैच खेले गए हैं इस मैदान में। एक वनडे और वर्षा से प्रभावित टी-20 मैच। दोनों ही मैचों में पिच में हल्का टर्न देखने का मिला। हाल ही में सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट के 14 मैच हुए थे जिसमें स्पिनरों का अच्छा प्रभाव देखने को मिला। 

दोनों टीमें

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, लोकेश राहुल, संजू सैमसन, ऋषभ पंत, मनीष पांडे, श्रेयस अय्यर, शिवम दुबे, रविंद्र जडेजा, वाशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, दीपक चाहर, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी।
वेस्टइंडीज : किरोन पोलार्ड (कप्तान), फेबियन एलेन, ब्रैंडन किंग, दिनेश रामदीन, शेल्डन कॉटरेल, एविन लुइस, शेरफाने रदरफोर्ड, शिमरोन हेतमायर, खारी पियरे, लेंडल सिमंस, जेसन होल्डर, हेडन वॉल्श जूनियर, कीमो पॉल और केसरिक विलियम्स।