दिल्ली में एक भाई द्वारा अपनी ही बहन को घर में कैद रखने का मामला सामने आया है. आरोप है कि दिल्ली के रोहिणी के घर में महिला को दो सालों से कैद रखा गया था और उसे खाने में 4 दिनों में सिर्फ एक ब्रेड ही दिया जाता था. 
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने ट्विटर पर लिखा- 'ये कैसे हैवान भाई होते हैं जो अपनी ही बहन को जीते जी नर्क देते हैं! एक भाई ने अपनी 50 वर्ष की बहन को पिछले 2 साल से कैद कर रखा है.'
स्वाति ने यह भी कहा कि महिला को भूखा इतना तड़पाया की वो अपने ही कपड़ों में गन्दगी में पड़ी रही. DCW ने रेस्क्यू किया. कौन कह सकता है ये महिला 50 वर्ष की है. 90 साल से कम नहीं लगती. उन्होंने कहा कि महिला को भाई द्वारा टॉर्चर भी किया गया. 
जिस दौरान महिला को रेसक्यू किया गया तब वह घर में फर्श पर पड़ी हुई थी. भूख की वजह से महिला का शरीर काफी कमजोर पड़ गया है. मालीवाल ने कहा- ये काफी दुख की बात है कि किसी भी पड़ोसी ने भी पुलिस को इस बात की जानकारी नहीं दी, कोई भाई और भाभी अपनी बहन को इस प्रकार कैसे ट्रीट कर सकते हैं. 
मालीवाल ने अपील की अगर ऐसे मामले सामने आते हैं तो लोगों को पुलिस को बताना चाहिए. 
इस मामले का पता तब चला जब महिला के दूसरे भाई ने दिल्ली महिला आयोग के हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर जानकारी दी.
मंगलवार को जब महिला आयोग की टीम रोहिणी में उनके घर पहुंची तो महिला के भाई और भाभी ने गेट खोलने से मना किया और अधिकारियों को वापस जाने को कहा. इसके बाद पुलिस ने जाकर महिला को छुड़वाया.